काव्य-कथा: समकालीन कविता संग्रह

· Arunoday Sharma
4.0
1 review
eBook
49
Pages

About this eBook

मैंने इन कविताओं को कविताओं की सीमा के आगे ले जा कर उनमें एक कहानी भी गूँथने की चेष्टा की है। इस कारण पाठकों को कदाचित इनमें दोहरी रूचि का अनुभव होगा। इस पुस्तक को मैं मुंबई शहर में आये उन तमाम नौजवानों के अटूट साहस एवं अदम्य उत्साह को समर्पित करना चाहूंगा जो दूर दराज़ से अपना घर-बार छोड़ कर यहाँ आते हैं। वर्ष १९७२ में मैं भी इन्हीं प्रवासियों में शामिल हो गया था।
4.0
1 review
Arunoday Sharma
18 July 2019
Since I am the author of the book, its not fair for me to praise it or put in a good time word. But I would really like people to check it out since this work is new experiment in poetry and completely off the beaten track.
Did you find this helpful?

About the author

कई वर्षों की ब्लॉग्गिंग की अनुभव के चलते मुझे गद्य लिखने का अधिक शौक़ रहा। पर अब तो लगने लगा है कि कविताओं से के माध्यम से कम शब्दों में अधिक प्रभावशाली भावनाएं उत्पन्न होतीं हैं। क्योंकि मैं एक शौकिया लेखक हूँ, इस कारण आपको मेरी भाषा में भारी-भरकम शब्द नज़र नहीं आएंगे। मैंने अधिकतर बोलचाल की भाषा का ही प्रयोग किया है।

Rate this book

Tell us what you think.

Reading information

Smartphones and tablets
Install the Google Play Books app for Android and iPad/iPhone. It syncs automatically with your account and allows you to read online or offline wherever you are.
Laptops and computers
You can listen to audiobooks purchased on Google Play using your computer's web browser.
eReaders and other devices
To read on e-ink devices like Kobo eReaders, you'll need to download a file and transfer it to your device. Follow the detailed Help Centre instructions to transfer the files to supported eReaders.